logo
add image

आगे-आगे ओवैसी, पीछे-पीछे अखिलेश पहुंचे वाराणसी, बदले-बदले से थे सपा सुप्रीमो के सुर

आगे-आगे ओवैसी, पीछे-पीछे अखिलेश पहुंचे वाराणसी, बदले-बदले से थे सपा सुप्रीमो के सुर

12 Jan 2021
वाराणसी। काशीलाइव (Kashilive.com)

अल्पसंख्यक वोटबैंक किसके पाले में जाएगा, इसकी रस्साकसी शुरू हो चुकी है। पूर्वांचल में मुस्लिम समाज का गढ़ कहे जाने वाली आजमगढ़ की धरती आज सियासी उठापटक का केंद्र बन गई है। अपने राजनीतिक मित्र सुभासपा के मुखिया ओमप्रकाश राजभर के निमंत्रण पर अपनी सियासी पारी खेलने मंगलवार को असदुद्दीन ओवैसी वाराणसी एयरपोर्ट से काफिला संग आजमगढ़ पहुंचे तो पीछे-पीछे सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भी अपने पिता मुलायम सिंह यादव की राजनीतिक विरासत बचाने पूर्वांचल की धरती पर आए। 

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: नए कृषि कानूनों पर लगी रोक, सुप्रीम कोर्ट ने दिया मोदी सरकार को बड़ा झटका

वाराणसी में लाल बहादुर शास्त्री इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मीडिया से बातचीत में कहा कि वे अभी सपा के दिवंगत नेता पारसनाथ यादव के घर जा रहे हैं। आजमगढ़ में चुनौती मिलने के सवाल पर सपा मुखिया ने कहा कि आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी का पुराना नाता, वह हमारे घर के समान है। जब वह पैदा भी नहीं हुए थे तब से पार्टी को वहां का प्यार और आशीर्वाद मिल रहा है। 

यह भी पढ़ें: सियासी मित्रता निभाने वाराणसी पहुंचे ओवैसी ने अखिलेश यादव पर कसा तंज, योगी सरकार को लेकर कही ये बात

मोदी सरकार को मान लेनी चाहिए बात:

किसानों के आंदोलन को लेकर अखिलेश यादव ने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार को अब सुप्रीम कोर्ट की बात मान लेनी चाहिए। आज स्वामी विवेकानंद की जयंती है, जिन्होंने रोटी को सबसे बड़ा धर्म कहा था। 

यह भी पढ़ें: भाभी पर आया दोस्त का दिल तो उतार दिया मौत के घाट, पुलिस ने किया दो को गिरफ्तार

भारतीय जनता नहीं झूठ पार्टी है:

अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का असली नाम भारतीय झूठ पार्टी है। उत्तर प्रदेश की जनता अब इस सरकार की सारी बदनीयती समझ चुकी है। किसान आंदोलन कर रहे है, युवा बेरोजगार घूम रहे हैं।

यह भी पढ़ें: मुख्तार के करीबी अजीत का हत्यारा एक लक्खा इनामी डॉक्टर दिल्ली से गिरफ्तार

वैक्सीन के सवाल पर दिया गोल-मोल जवाब:

कोरोना से बचाव को लेकर वैक्सिनेशन करवाने से इनकार करने वाले अखिलेश यादव के सुर अबकी बदले थे। टीका लगवाने के मीडया के सवाल पर उन्होंने सीधे जवाब देने के बजाय कहा कि पहले गरीब लोगों को टीका लगाया जाए। सरकार ने गरीबों को मुफ्त में टीका लगाने की क्या योजना बनाई है, यह बताये।



footer
Top