logo
add image

दम तोड़ रहे गोवंश और अधिकारी बेपरवाह, मृत गोवंशों के इस वीडियो पर मचा है घमासान

दम तोड़ रहे गोवंश और अधिकारी बेपरवाह, मृत गोवंशों के इस वीडियो पर मचा है घमासान

30 Dec 2020

मिर्जापुर। काशीलाइव (Kashilive.com)

दावे चाहे हजार हों, लेकिन गो आश्रय स्थलों का हाल किसी से छिपा नहीं है। उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही निराश्रित गोवंश को संरक्षण देने की प्राथमिकता देने का आदेश जारी हुआ था। इसके लिए योगी सरकार ने 2019-2020 के लिए कुल 247.60 करोड़ रुपये गोवंशों के रखरखाव के लिए गोशालाओं के निर्माण के लिए आवंटित किए थे।

यह भी पढ़ें: लिकर किंग पूर्व सांसद को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस लौटी बैरंग

सीएम योगी ने सभी जिले के अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि वो सभी गोवंशों को आश्रय स्थलों में जमा कर और उनका ध्यान रखे। लेकिन अफसरशाही के चलते सरकार के आदेशों की अवेहलना हो रही है और उनकी उदासीनता के चलते गो आश्रय स्थलों में मौजूद गो वंश दम तोड़ रहे है।

यह भी पढ़ें: चंदौली में आयकर विभाग ने की रेड, कोलकाता से लेकर यूपी में कई स्थानों पर खंगाले दस्तावेज, वाराणसी से है खास कनेक्शन

ताज़ा मामला जनपद मिर्जापुर के लालगंज क्षेत्र के बरकछा गांव का है, जहां से दर्जनों गो वंशो की मौत का वीडियो वायरल हो रहा है। इतना ही नही किसी ने गो वंश के मरने के बाद इतनी भी जहमत नही उठायी की मृत गो वंश को दफना दे। मृत गो वंश के ऊपर मक्खियां भिनभिना रही हैं और उनकी सुध लेने वाला कोई नही है। 

यह भी पढ़ें: वाराणसी पुलिस ने किया सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, दो कालगर्ल संग युवक गिरफ्तार

यह वीडियो मिर्जापुर के मड़िहान विधानसभा से कांग्रेस के पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर करते हुए कहा कि यह सिद्ध है कि गोवंश के समुचित रखरखाव जैसी बातें केवल योगी सरकार के दस्तावेजों में है, जो जमीनी हकीकत के ठीक उलट है।



footer
Top