logo
add image

जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ की बैठक, दिया आवश्यक निर्देश

जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ की बैठक, दिया आवश्यक निर्देश

वाराणसी। काशीलाइव

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने आज शनिवार को सिगरा स्थित कमाण्ड सेन्टर में कोविड-19 के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जांच में पाये गए सभी सकारात्मक व्यक्ति से 24 घंटे के भीतर संपर्क कर उन्हें उन्हें कोविद अस्पताल में भर्ती कराएँ।

घर-घर सर्वे टीम द्वारा सर्वे किया जाए तथा सभी टीमों द्वारा अपने कत्र्तव्यों का निर्वहन भली-भांति किया जाए- जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा

यह भी पढ़ें: बीएचयू में सोमवार से शुरू होगी दाखिले की प्रक्रिया, मैदान में उतरेंगे 5 लाख छात्र

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि सभी संदिग्ध व्यक्ति/रोगियों के ILI/SARI के लक्षणों की पहचान की जाए तथा प्रत्येक टीम द्वारा  कम से कम 02 नए व्यक्ति की पहचान प्रतिदिन की जाए । सभी पहचाने गए संदिग्ध रोगियों की सैम्पलिंग की जाए तथा संदिग्ध व्यक्ति के परीक्षण में कोई शिथिलता न बरती जाए।

यदि किसी संदिग्ध व्यक्ति का परीक्षण सकारात्मक है तो 24 घंटे के भीतर उनके संपर्कों का भी परीक्षण किया जाना जरूरी है। बैठक में उपस्थित सभी ACMO और DyCMO को निर्देशित किया गया  कि उन्हें कोविड से सम्बन्धित जो भी विशिष्ट दायित्व सौंपा गया है उसे पूरे तत्परता से पालन कराएं ।

सर्वे में पाये गए सभी सकारात्मक व्यक्ति से 24 घंटे के भीतर अवश्य संपर्क किया जाए तथा उन्हें कोविद अस्पताल में बिना किसी देरी के शिफ्ट कराया जाए । इसी तरह उन सभी को जिन्हें घर से बाहर रखा जाना है, उन्हें आरआरटी (रैपिड रिस्पांस टीम) द्वारा उन्हें प्रोटोकॉल की जानकारी दी जाए।

होम आइसोलेटेड के सभी रोगियों को अवगत कराया जाए कि वे दैनिक आधार पर कमांड सेंटर से अवश्य संपर्क करें। निगरानी टीम को फिर से सक्रिय किया जाए तथा बाहरी जिले से आने वाले सभी लोगों पर निगरानी की जाए तथा लक्षण मिलने पर उनकी समुचित उपचार की व्यवस्था कराई जाए ।

कोविद अस्पतालों में होने वाली सभी मौतों का विश्लेषण किया जाए तथा यह सुनिश्चित किया जाए कि उन्हें इलाज में कोई देरी न हो ।

यह भी पढ़ें: Breaking: दीनापुर एसटीपी से क्लोरीन गैस का रिसाव, कई लोग अस्पताल में भर्ती

बैठक में उपस्थित सभी ACMO और DyCMO को निर्देशित किया गया  कि वे यह  सुनिश्चित कराएं कि परीक्षण किए गए सभी मरीज अपना मोबाइल नंबर और पता अवश्य दें ताकि सकारात्मक आने के बाद सभी को सूचना दी जा सके ।

मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि नियमित आधार पर आईएमए और नर्सिंग होम एसोसिएशन के साथ बैठक कराएं ताकि उपचार प्रोटोकॉल पर जानकारी दी जाए। आवश्यकतानुसार प्रत्येक रोगी के लिए एम्बुलेंस सेवा की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए ।

यह भी पढ़ें: मंडलीय अस्पताल के मेडिकल आफिसर भटौली पुल से लापता



footer
Top