logo
add image

बेटी को पहनना न पड़े हिजाब इसलिए बाप कर लेता है उससे निकाह, जानिए क्या कहता मजलिस का कानून

बेटी को पहनना न पड़े हिजाब इसलिए बाप कर लेता है उससे निकाह, जानिए क्या कहता मजलिस का कानून

8 Jan 2021
काशीलाइव (Kashilive.com)

कहते हैं दुनिया में पिता-पुत्री का रिश्ता बेहद ख़ास होता है। लेकिन एक कानून ऐसा भी जिसके तहत पिता अपनी बेटी से विवाह कर सकता है। दरअसल ईरान में पिता-पुत्री के लिए अनोखा कानून मौजूद है। यहां पिता चाहे तो बेटी से शादी कर सकता है, बशर्ते बेटी की उम्र 13 या उससे ज्यादा साल की हो।

यह भी पढ़ें: पत्थर दिल इंसानों ने डॉल्फिन मछली की लाइव हत्या का वीडियो किया वायरल, 3 गिरफ्तार

बताया जाता है कि ईरान में 13 साल या इससे ज्यादा उम्र की गोद ली हुई बेटी को पिता के सामने हिजाब पहनना होता है। लड़कियों को बुर्का पहनने से आजादी मिल सके इसके लिए पिता अपनी बेटी से शादी कर सकता है। यह कानून इस्लामिक कंसल्टेटिव एसेंबली ने बनाया था, जिसे मजलिस कहा जाता है और यह कानून 2013 में पास हुआ था। इस शादी को करने के लिए बस बाप के सामने 2 शर्तें होती हैं।

यह भी पढ़ें: शादी के निमंत्रण कार्ड में भेजी शराब की बोतल और चखना के साथ मिनरल वाटर, वीडियो हुआ वायरल

पहली शर्त, बेटी की उम्र 13 साल या इससे ज्यादा होनी चाहिए वहीं, दूसरी शर्म के तहत पिता को तर्क देना होता है कि यह काम वह बेटी की भलाई के लिए कर रहा है। हालांकि दुनिया भर में इस विचित्र कानून को लेकर काफी हंगामा भी हुआ। लोगों के मुताबिक ये बाप-बेटी के रिश्ते को शर्मसार करने वाला कानून है।

यह भी पढ़ें: दोस्त को घर बुलाकर पति करवाता था पत्नी का रेप, सामने बैठकर वीडियो भी बनाया और कहा...

बता दें कि ईरान में महिलाओं को लेकर कई अजीब कानून है। यहां औरतों का गैर मर्दों से हाथ मिलाना भी गुनाह माना जाता है। सार्वजनिक जगहों पर महिला दूसरे पुरुष से हाथ मिलाते हुए पाई गई तो उस पर जुर्माना लगाया जाता है। इतना ही नहीं उसे कैद भी हो सकती है। इसके अलावा औरतों को तलाक लेने का अधिकार नहीं है। अगर वो घरेलू हिंसा से पीड़ित भी हैं इसके बावजूद वो अपने शौहर के खिलाफ केस फाइल नहीं कर सकती हैं।



footer
Top