logo
add image

ब्रेकिंग- कोरोना की चपेट में काशी के 2460 कारोबारी, इतनों की हो चुकी मौत, जानें जिलाधिकारी ने क्या दिए आदेश

ब्रेकिंग- कोरोना की चपेट में काशी के 2460 कारोबारी, इतनों की हो चुकी मौत, जानें जिलाधिकारी ने क्या दिए आदेश

वाराणसी। काशीलाइव
      नगर में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। कोरोना मरीजों की संख्या अब तक पांच हजार के पार पहुंच चुकी है। लेकिन अगर आकड़ों को देखा जाए तो कोरोना की चपेट में सबसे ज्यादा व्यापारी वर्ग है। इसको लेकर रविवार को जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि वाराणसी में कुल कोरोना से पॉजिटिव केसेस में यदि प्रोफेशन वार आंकड़ा देखें तो सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव लोग व्यापारिक गतिविधियों से जुड़े हुए हैं। लगभग 50ः पॉजिटिव लोग केवल व्यापारी गतिविधियों से  जुड़े हुए हैं। 
      यह साबित करता है कि जो दुकानदार अथवा अन्य प्रकार के व्यापार से जुड़े हुए लोग ज्यादा लोगों के संपर्क में आते हैं उन्हें कोरोना होने की संभावना सबसे ज्यादा है। दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना होना तथा मास्क ना लगाना भी इसकी एक बड़ी वजह है।
      यह आंकड़ा यह साबित करने के लिए काफी है कि मार्केट अथवा दुकानों में जरा भी लापरवाही हुई तो कोरोना के केस तत्काल बढ़ जाएंगे। शहर के लंका, कैंट, सिगरा, मंडुवाडीह, भेलूपुर थाना क्षेत्रों में विशेष रूप से ऐसे केस में बढ़ोतरी हुई है तथा व्यापारिक समूह में भी इसी क्षेत्र से सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस निकले हैं।
      मृत्यु का डाटा देखें  तो 74 में से 32 जो लगभग 40ः है वह भी व्यापारिक समुदाय से हुई हैं। इसलिए व्यापारिक समुदाय को सबसे ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। किसी भी प्रकार से सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क को हल्के में ना लें।


      जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से अनुरोध किया है कि सभी दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करायें, मार्केट में छोटी-छोटी कमेटी बनाकर रोटेशन से पूरे अनुशासन का पालन करवाएं तथा जो अनुशासन का पालन ना करें उनकी दुकान बंद करवाएं। 
      कोई भी व्यापारी, दुकानदार अथवा व्यापारी प्रवृत्ति से जुड़े हुए लोग जिनको ब्लड प्रेशर, शुगर की समस्या हो अथवा जिनके पूर्व में हार्ट, किडनी, फेफड़े अथवा कैंसर आदि की बीमारी रही हो वे लोग प्रशासन के द्वारा जारी किए गए प्रारूप में अपनी पूरी डिटेल फीड करवा दें। ऐसे सभी लोगों को प्रीवेंटिव ट्रीटमेंट दिया जाना प्रारंभ किया जाना था। सभी से अनुरोध है कि आईवरमैक्कटिन 12mg प्रीवेंटिव कोर्स भी तत्काल ले लें तथा इन बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति विशेष सतर्क रहें। यदि किसी के भी कोरोना प्रकार के लक्षण हैं तो तत्काल एंटीबायोटिक का ट्रीटमेंट चालू करें, अपनी सैंपलिंग करवाएं तथा सैंपल के रिजल्ट का इंतजार किए बिना डॉक्टरी परामर्श से ट्रीटमेंट चालू करा दें। 
      यदि ट्रीटमेंट में विलंब होता है तो मृत्यु की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है इसलिए सभी से अनुरोध है कि अगर किसी में भी कोरोना के लक्षण है तो तत्काल अपना ट्रीटमेंट शुरू कराएं। 
      आज जैसे मीडिया पत्रकार बंधुओं का टेस्ट करवाया गया है वैसे ही व्यापार मंडल के माध्यम से प्रशासन सभी व्यापारियों का टेस्ट करवाना चाहता है इसके लिए भी क्षेत्रवार प्लान बना लिया जाए। पहले लंका, भेलूपुर, कैंट, सिगरा थाना क्षेत्र कवर किये जायें। जो भी व्यापारी कोरोना पॉजिटिव निकलेंगे कम से कम तत्काल उनका ट्रीटमेंट प्रारंभ हो जाएगा और ट्रीटमेंट में विलंब ना होने की वजह से उनकी जान बच सकेगी। इसलिए हर व्यापारी के यह हित में है कि जल्दी से जल्दी अपना एंटीजन टेस्ट कराएं तथा पॉजिटिव निकले तो ट्रीटमेंट चालू करायें।



footer
Top