logo
add image

शिव को चढ़ाने निकले थे जल, गंगा में समाए

शिव को चढ़ाने निकले थे जल, गंगा में समाए

गाजीपुर। काशीलाइव
सावन के तीसरे सोमवार को रेवतीपुर स्थित बवाड़ा घाट पर गंगा नहाने गए तीन दोस्तों में दो की डूबने से मौत हो गई। वहीं तैराकी जानने वाला एक किशोर किसी तरह बचकर बाहर निकल गया। तीनों बाबा भोलेनाथ को जलाभिषेक करने निकले थे। 

सुहवल थाना क्षेत्र में बड़ौरा गांव निवासी सुजीत गुप्ता (18) अपने गांव के ही दोस्त संदीप गुप्ता (16) और  अनुज गुप्ता (15) के साथ बवाड़े गांव में गंगा घाट पर बाइक से पहुंचे। किनारे पर बाइक खड़ी कर नहाने लगे। गहरे पानी में जाने की वजह से सुजीत और संदीप डूब गए, जबकि अनुज बच गया। इस घटना की जानकारी होते ही डूबने वाले युवक और किशोर के परिवार के साथ ही बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंच गए। लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। कुछ ही देर में थाना प्रभारी विवेक श्रीवास्तव मौके पर पहुंच गए और गोतोखोरों की मदद से डूबने वालों का तलाश शुरु करा दी। परिजनों के मुताबिक सावन का तीसरा सोमवार होने के कारण सुजीत गुप्ता मां माया देवी से दोस्तों संग गंगा स्नान कर शिव मन्दिर में जलाभिषेक करने की बात कही थी। इस पर मां ने कोरोना व लाकडाउन का हवाला देते हुए मना किया था। साथ ही घर पर ही स्नान कर जल चढ़ा लेने को कहा था। सुजीत जिद करते हुए जल्द आने की बात कह घर से निकल कर अपने पट्टीदार संदीप गुप्ता के घर पहुंच गया  उसकी बाइक लेकर बवाड़ा गंगा घाट पर स्नान करने के लिए चलने को कहा। इसपर उसकी मां संजू देवी ने बाइक ना लेकर जाने को कहा। लेकिन सावन का सोमवार का हवाला देकर संदीप बाइक लेकर घर से निकल गया। यही नहीं रास्ते से एक अन्य दोस्त अनुज गुप्ता को भी बाइक पर बैठा लिया। बवाड़ा गंगा तट से पहले सड़क किनारे बाइक खड़ीकर तीनों गंगा स्नान के किए तट किनारे पैदल चल पड़े। वहां पहुंचकर संदीप व सुजीत स्नान करने लगे। दोनों अचानक गहरे पानी के दायरे में धीरे-धीरे आने लगे। यह देख बाहर बैठा तीसरा दोस्त जोर-जोर से अपने दोस्तों को बचाने के लिए चिल्लाने लगा। आवाज सुनकर अगल-बगल में स्नान कर रही महिलाएं मौके की तरफ दौड़ीं, लेकिन सबके आंखों के सामने ही दोनों गहरे पानी में समा गये। यह देख हतप्रभ तीसरे दोस्त अनुज गुप्ता किसी माध्यम से इसकी सूचना गांव पर परिजनों को दी। इसके बाद तो गांव में कोहराम मच गया। 
 



footer
Top