logo
add image

स्कूलों के टैक्स करिए माफ, नर्सरी से आठ तक बच्चों की पढ़ाई कराएं स्टार्ट

स्कूलों के टैक्स करिए माफ, नर्सरी से आठ तक बच्चों की पढ़ाई कराएं स्टार्ट

18 January 2021

वाराणसी। काशीलाइव 

कोरोनकाल में बीते एक साल से नर्सरी से कक्षा 8 तक के बच्चों की पढ़ाई बाधित चल रही है। ऑनलाइन क्लासेज चल रही। उधर, बिजली, समेत अन्य टैक्स व शिक्षक के वेतन को स्कूल प्रबंधन लगातार फीस के लिए दबाव डाल रहे ताकि स्कूल के अन्य खर्च वहन किये जा सके।

जिलाधिकारी के जरिये राज्यपाल तक बात पहुंचाने की क़वायद 
प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन से जुड़े जिले के तमाम विद्यालय संचालकों ने सोमवार को जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को संबोधित अनुरोध पत्र देकर विद्यालयों को खोलने संबंधित विभिन्न मांगों के लिए गुहार लगाई है। 

कक्षा आठवीं तक विद्यालय न खुलने से बच्चों के पढ़ाई का काफी नुकसान हो रहा है। हम विद्यालय से जुड़े हुए लोगों का अनुरोध पूर्वक 1. कोविड-19 (कोरोना) का टीकाकरण शुरू होने के बाद कोविड-19 के मानकों का पालन कराते हुए नर्सरी से आठवीं तक के विद्यालय को पुनः खोला जाए।

कोविड-19 के मानकों का पालन कराते हुए कक्षा-9 से कक्षा- 8तक के छात्राओं को समस्या समाधान क्लास ( Doubt Class)के लिए अनुमति प्रदान किया जाए।

विद्यालयों का टैक्स, बीमा राशि सहित बिजली बिल व अन्य करों का सरकार करे भुगतान।

यदि नर्सरी से आठवीं तक का विद्यालय खोलना सम्भव न हो तो विद्यालय को प्रति पत्र के फीस के अनुसार वार्षिक शुल्क प्रतिपूर्ति राशि दिया जाए



footer
Top