logo
add image

ढाबा में रात गुजारने को मांगा पनाह और उठा लिया यह खतरनाक कदम

ढाबा में रात गुजारने को मांगा पनाह और उठा लिया यह खतरनाक कदम

जौनपुर। काशीलाइव

रायबरेली-जौनपुर मार्ग पर इटहरा गांव स्थित ढाबे में शनिवार की रात पनाह लेने वाले युवक ने फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया। घटना की जानकारी जब ढाबा संचालक को हुई तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में ढाबा संचालक की ओर से इस बात की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतरवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगे की कार्रवाई में जुट गई। मिली जानकारी के अनुसार मुंगराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के हाईवे पर इटहरा गांव के पास राकेश यादव ढाबा चलाते हैं। शनिवार की रात एक युवक वहां पहुंचा। अपनी पहचान नरेश राम(35) निवासी चंद्रकुड़िया थाना बथुआडीह जिला बगहा (बिहार) बताते हुए रात गुजारने के लिए ढाबे पर पनाह मांगी। ढाबा संचालक ने इनकार किया तो युवक ने अपने घरवालों से बात कराई। 

फोन पर बातचीत में घरवालों ने बताया कि युवक कई महीनों से लापता था। आप ढाबे पर उसे रोककर रखिए, हम लोग सुबह तक आकर उसे ले जाएंगे। ढाबा संचालक ने युवक को वहीं रहने की अनुमति दे दी। रात में काम खत्म कर कर्मचारी भी सो गए। सुबह नींद खुली तो नरेश का शव ढाबे में ही छत पर बंधी बल्ली से रस्सी के सहारे लटक रहा था। सूचना पाकर मुंगराबादशाहपुर पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को अवगत कराया। कुछ देर में परिजन भी पहुंच गए। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
एसओ सत्यप्रकाश सिंह ने बताया कि परिवारवालों ने पूछताछ में युवक को मानसिक रोगी बताया है। मामला आत्महत्या का है। छानबीन की जा रही है।
 



footer
Top