logo
add image

माफिया बजरंगी के हत्यारे से जुड़े मुख्तार के करीबी की हत्या के तार, बाहुबली धनंजय से पूछताछ की तैयारी

माफिया बजरंगी के हत्यारे से जुड़े मुख्तार के करीबी की हत्या के तार, बाहुबली धनंजय से पूछताछ की तैयारी

20 January 2021

वाराणसी। काशीलाइव

लखनऊ के विभूतिखण्ड इलाके में गोलियों से छलनी किये गए माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के करीबी अजीत सिंह की हत्या में शामिल शूटर की पहचान के बाद एक बार फिर पूर्वांचल की धरती पर वर्चस्व स्थापित करने की जंग सामने आ गई है।

यह भी पढ़ें: Breaking News: मुख्तार के करीबी अजीत का हत्यारा एक लक्खा इनामी डॉक्टर दिल्ली से गिरफ्तार

 

राठी गैंग का है घायल शूटर राजेश

अजीत सिंह की हत्या में घायल शूटर की शिनाख्त हो गई है। घायल शूटर राजेश तोमर माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या में आरोपी सुनील राठी की गैंग का गुर्गा है। बीते छह जनवरी को राजेश विभूति खण्ड में अजीत सिंह के साथ हुई क्रॉस फायरिंग में घायल हो गया था। राजेश के साथ ही राठी गैंग के एक और शूटर संदीप सिंह बाबा का नाम सामने आया है जो चंदौली जिले का रहने वाला है। बाबा फिलहाल पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है। 

यह भी पढ़ें: अजीत सिंह हत्याकांड: दबोचा गया एक शूटर, चार शूटरों की हुई पहचान, सभी आजमगढ़ के निवासी

 

धनंजय के कहने पर हुआ था राजेश का  ईलाज 

लखनऊ में हुए हत्याकांड से सरकार विपक्षियों के निशाने पर थी तो दूसरी तरफ सत्ता से पिछले गलियारे से जुड़े लोगों का नाम सामने आ रहा था। हत्याकांड में वाराणसी पुलिस की तरफ़ से एक लाख इनामी गिरधारी का नाम सामने आते ही पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय का नाम सामने आने लगा था लेकिन पुख्ता सबूत के बिना एसटीएफ से लेकर अन्य एजेंसी खुलकर नाम लेने से कतरा रही थी। इस बीच पुलिस की तफ्तीश आगे बढ़ी तो घायल शूटर का इलाज करने वाले डॉक्टर की गर्दन तक जा पहुंची। डॉक्टर एके सिंह ने पुलिस और अदालत को बताया है कि घायल शूटर राजेश का उन्होंने पूर्व सांसद धनंजय सिंह के कहने पर उपचार कराया था। डॉक्टर के बयान के बाद लखनऊ पुलिस अब पूर्व बाहुबली सांसद धनंजय सिंह से पूछताछ की तैयारी में जुटी है। 

यह भी पढ़ें: मुख्तार के करीबी अजीत सिंह की सरेराह गोली मारकर हत्या, आज़मगढ़ के बाहुबली पर शक की सुई

 

वाराणसी के सदर तहसील में हुई हत्या में भी तो नहीं बाहुबली का हाथ

घायल शूटर का इलाज करने वाले डॉक्टर के बयान के बाद जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह अब घिरते नजर आ रहे है। अजीत सिंह हत्याकांड में वांछित गिरधारी विश्वकर्मा का नाम सामने आते ही जरायम की दुनिया से लेकर पुलिस महकमे में धनंजय सिंह का नाम सामने आने लगा था लेकिन कोई खुलकर बोलने से कतरा रहा था। इस बीच दिल्ली में जिस नाटकीय तरीके से गिरधारी गिरफ्तार हुए, लोगों ने मान लिया था कि इस मर्डर केस में कहीं न कहीं धनंजय सिंह की भूमिका है। 

यह भी पढ़ें: मुख्तार के करीबी की हत्या में जुड़ा वाराणसी के इस इनामी शूटर का नाम, इस हत्याकांड में वांछित है बाहुबली का शूटर

गिरधारी की गिरफ्तारी के बाद अब वाराणसी के सदर तहसील में 2018 में हुई नितेश सिंह बबलू की हत्या का भी राजफाश होने की उम्मीद है क्योंकि इस हत्याकांड में भी धनंजय सिंह का नाम उछला था। वाराणसी की पुलिस ने बबलू हत्याकांड के दौरान जब गिरधारी को दबोचने की कोशिश की थी तब धनन्जय सिंह ने ही अपने बाहुबल का इस्तेमाल करते हुए जांच प्रभावित कराई। हालांकि बाद में वाराणसी पुलिस के हाथ जब पुख्ता सबूत हाथ लगे तो गिरधारी का नाम इस हत्याकांड में दर्ज हुआ। आशंका है कि इस हत्याकांड के तार भी बाहुबली धनंजय सिंह से जुड़े हैं। फिलहाल तो वाराणसी पुलिस वारंट बी के भरोसे गिरधारी को दिल्ली से बनारस लाने की तैयारी में है। एक टीम दिल्ली में डेरा डालकर बैठी है। 

 



footer
Top