logo
add image

शादी के लिए अनुमति की नहीं होगी जरूरत, बैंड, बाजा भी रोक नहीं, जाने मुख्यमंत्री क्या दिए निर्देश

शादी के लिए अनुमति की नहीं होगी जरूरत, बैंड, बाजा भी रोक नहीं, जाने मुख्यमंत्री क्या दिए निर्देश

लखनऊ। काशीलाइव डेस्क

देवोत्थानी एकादशी के साथ ही शादी-विवाह का सीजन शुरू हो गया है। इन सबके के बीच कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार की ओर से नई गाइडलाइन जारी की गई थी। इसमें शादी में सौ से अधिक लोगों के कार्यक्रम में शामिल नहीं होने और कार्यक्रम के लिए अनुमति लेने जैसी शर्ते थी। इसको लेकर लोगों की मुसीबते बढ़ गई थी। ऐसे में सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को नए दिशा-निर्देश जारी किए। उन्होंने कहा कि शादी के लिए पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की कोई आवश्यकता नहीं। यही नहीं सीएम ने सख्त निर्देश दिया है कि कहीं से भी पुलिस की दुर्व्यवहार की शिकायत नहीं आए। यदि आती है तो उनके खिलाफ सख़्त कार्रवाई होगी। साथ ही अधिकारियों की भी जवाबदेही तय होगी।

मुख्यमंत्री ने जारी निर्देशों में कहा है कि केवल सूचना देकर और कोरोना संबंधी नियमों का पालन कर कोई भी शादी समारोह का आयोजन कर सकता है। लोगों को ज्यादा खबराने की जरूरत नहीं हैं। उन्होंने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को भी निर्देश दिया है कि वह लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाए उन्हें  जागरूक करें। गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें। 

बैंड बाजा पर नहीं है कोई रोक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट किया है कि शादी में बैंड बजाने और डीजे पर कोई रोक नहीं है। निर्धारित समय में इसे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्रवाई होगी। उन्होंने लोगों से अपील की है कि निर्धारित समय के बाद डीजे ना बजाएं। 

मास्क पहने और बुजुर्गों का रखें ध्यान
सरकार लोगों से बार-बार मास्क पहनने के साथ ही बुजुर्गों का ध्यान रखने की अपील कर रही है। कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा बुजुर्गों पर है और सबसे अधिक मौतें भी उन्हीं की हो रही है। बढ़ते ठंड के साथ ही कोरोना के बढ़ने का भी खतरा है और इसमें धीरे-धीरे तेजी देखने को मिल रही है।



footer
Top