logo
add image

मास्क नहीं तो टोकेंगे, कोरोना को रोकेंगे

मास्क नहीं तो टोकेंगे, कोरोना को रोकेंगे

वाराणसी। काशीलाइव

देश के कई राज्यों में कोरोना ने दोबारा तेजी के साथ अपना पांव पसारना शुरू कर दिया है, लेकिन लोगों के मन में कोरोना की प्रति उतनी गंभीरता नहीं है। ऐसे में अगर जल्द ही लोगों को जागरूक नहीं किया गया तो परिणाम और घातक हो सकते है। यह कहना सामाजिक संस्था सुबह-ए-बनारस के अध्यक्ष महेश जायसवाल का था। शुक्रवार को वह हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज की छात्राओं को कोरोना के प्रति जागरूक कर रहे थे। इस दौरान उनके साथ उद्यमी विजय कपूर व हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज की प्रधानाचार्या डॉ. प्रियंका तिवारी भी मौजूद रहीं। इस दौरान छात्राओं से दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी, मास्क नहीं तो टोकेंगे, कोरोना को हम रोकेंगे के नारे भी लगवाए गए। वहीं छात्राओं को बताया गया कि साबुन से नियमित हाथ धोते रहें, हाथ मिलाने के बजाय नमस्ते करें, छींकते- खांसते वक्त टिश्यू का प्रयोग करें।

इस दौरान उन्होंने कहा कि राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण जिस तेजी से फैल रहा है। इसकी तीसरी लहर की बात कहीं जाने लगी है, उसके लिए कहीं ना कहीं हम खुद भी जिम्मेदार हैं। संक्रमण की इस रफ्तार का ठीकरा पूरी तरह से सरकार पर नहीं फोड़ा जा सकता। चाहे वह केंद्र की सरकार हो, या राज्य की वह बार-बार आगाह करती रही है,कि जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकले। और भीड़-भाड़ में जाने से बचे। मगर त्योहारी मौसम में हमने जमकर बाजार में भीड़ बढ़ाई। ऐसे लोग अपने जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, और दूसरों को भी संकट में डाल रहे हैं सभी को सतर्क रहने की जरूरत है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से मुकेश जायसवाल, विजय कपूर, डॉ. प्रियंका तिवारी, उपाध्यक्ष अनिल केसरी, सचिव डॉ मनोज यादव सहित कॉलेज की छात्राएं शामिल थी।
 



footer
Top