logo
add image

काशी विश्वनाथ की नगरी में योगी सरकार खोलने जा रही धर्मार्थ कार्य विभाग का निदेशालय

काशी विश्वनाथ की नगरी में योगी सरकार खोलने जा रही धर्मार्थ कार्य विभाग का निदेशालय

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में यह प्रदेश स्तर का पहला निदेशालय होगा 

वाराणसी। काशीलाइव (kashilive.com)

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को धर्म, कला एवं संस्कृति के साथ अध्यात्म की नगरी भी कहा जाता है। योगी सरकार ने शुक्रवार के एक और ऐतिहासिक निर्णय लिया है।  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शुक्रवार को लखनऊ में हुए मंत्री परिषद की बैठक में लिये गये निर्णयानुसार धर्मार्थ कार्य विभाग का मुख्यालय (निदेशालय) बनारस में बनेगा। प्रदेश स्तर का बनारस में बनाने वाला यह पहला निदेशालय होगा।

35 साल पहले बना था उत्तर प्रदेश में धर्मार्थ कार्य विभाग 

प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने बताया कि 1985 में धर्मार्थ कार्य विभाग बनाया गया। लेकिन इसका निदेशालय अभी तक नहीं बनाया गया तथा लोग इस विभाग को उपेक्षा की दृष्टि से देखते थे। लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शुक्रवार को लखनऊ में हुए मंत्री परिषद की बैठक में धर्मार्थ कार्य विभाग का निदेशालय (मुख्यालय) बनारस में बनाए जाने का निर्णय लिया गया हैं। उन्होंने बताया कि बनारस में धर्मार्थ कार्य विभाग का मुख्यालय बनने से धर्म स्थलों, मंदिरों एवं मठों की गतिविधि जुड़ेगा और इनके सौंदर्यीकरण एवं विकास कार्यों से संबंधित योजनाओं परियोजनाओं के संचालन में गति मिलेगा।



footer
Top