logo
add image

बैन हुए 43 चाइनीज ऐप तो चीन को लगी मिर्ची, यहां लगाई गुहार

बैन हुए 43 चाइनीज ऐप तो चीन को लगी मिर्ची, यहां लगाई गुहार

नई दिल्ली।

सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच भारत और चीन के संबंधों पर असर देखने को मिल रहा है। भारत सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान रखते हुए 43 और मोबाइल ऐप पर रोक लगा दी है। इनमें सबसे अधिकतर ऐप चीन निर्मित है। अपने ऐप पर पाबंदी लगते ही चीन को मिर्ची लगी है और उसने ऐतराज जताया है। साथ ही भारत के इस कदम को विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के नियमों का उल्लंघन बताया है और शिकायत की है।

भारत सरकार ने मंगलवार को अलीबाबा समूह के ई-वाणिज्य ऐप अली एक्सप्रेस समेत 43 और चीनी मोबाइल ऐप पर पाबंदी लगा दी। मई से जारी चीन के साथ सीमा पर गतिरोध के बीच भारत सरकार ने चौथी बार ऐसा कदम उठाया है। इस तरह से भारत अब तक चीन बेस्ड 267 ऐप पर प्रतिबंध लगा चुका है। इनमें पबजी, टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, फेसयू, वीचैट रीडिंग जैसे ऐप शामिल थे।

लगातार हो रही कार्रवाई से बौखलाए चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने आरोप लगाया है कि भारत बार-बार 'राष्ट्रीय सुरक्षा' को बहाने चीनी मोबाइल ऐप्स को बैन कर रहा है। इसकी हम विरोध करते हैं। भारत का यह कदम डब्ल्यूटीओ को नियम के खिलाफ है। प्रवक्ता का कहना है कि चीनी सरकार हमेशा यह अपेक्षा रहती है कि विदेशी चीनी कंपनियां अंतर्राष्ट्रीय नियमों का पालन करें।

 

इन मोबाइल एप पर लगा है प्रतिबंध

अली सप्लायर्स मोबाइल ऐप, अलीबाबा वर्कबेंच, अली एक्सप्रेस, अलीपे कैशियर, लालामूव इंडिया, ड्राइव विद लालामूव इंडिया, स्नैक वीडियो, कैमकार्ड-बिजनेस कार्ड रीडर, कैम कार्ड- बीसीआर वेस्टर्न, सौउल, चाइनजी सोशल, डेट इन एशिया, वी डेट, फ्री डेटिंग ऐप, एडोर ऐप, ट्रूली चाइनीज, ट्रूली एशियन, चाइना लव, डेट माय एज, एशियन डेट, फ्लर्ट विश, गायज ओनली डेटिंग, टूबिट, वी वर्क चाइना, फर्स्ट लव लाइव, रीला, कैशियर वॉलेट, मैंगो टीवी, एमजीटीवी, वी टीवी, वीटीवी लाइट, लकी लाइव, टाओबाओ लाइव, डिंग टॉक, आईडेंटिटी वी, आईसोलैंड 2, बॉक्स स्टार, हैपी फिश, जेलीपॉप मैच, मंचकिन मैच, कॉनक्विस्टा ऑनलाइन



footer
Top